P/E retio kya hota hai

 नमस्कार दोस्तों आज हम आपको बताएंगे P/E retio kya hota hai?

अगर आप शेयर मार्केट में निवेश करने के लिए या फिर उसके बारे में जानने की रूचि रखते हैं तो आज हम आपको बताएंगे P/E retio kya hota hai?

क्योंकि आप अगर शहर मार्केट में निवेश करना चाहते हैं तो इसके बारे में आपको जानना बहुत ही जरूरी होगा। वैसे तो बहुत पैसे चाहिए हैं जिससे आप अच्छे से जाना चाहिए और अगर आप शेयर मार्केट क्या है। और इसके साथ ही निवेश का नियम ,इसके सभी पहलू  के बारे में जानना चाहते हैं|

तो निजी आपको पोस्ट मिल जाएगा वहां से आपको जाकर उसकी जानकारी ले सकते। यह एक जरुरी मुद्दा है जिसका को जानना अत्यावश्यक p/e ratio जिसका मतलब होता है । Price earning ratio इसी भी स्टॉक में buy करने के लिए इसको जानना ज़रूरी होता है।

चलिए हम आपको price earning ratio को उदाहरण के साथ समझाता है। जब कहीं पर किसी वस्तु के लिए खरीदने जाते हैं तो वहां पर हमें उसका जो मूल्य होता है।

उसको हमें देना पड़ता है। लेकिन पहले हम क्या जान लेते हैं कि इसका मूल्य सही है या नहीं। चेक उसी प्रकार जब हम किसी स्टॉक के बारे में पता करते हैं और उसके मूल्य के बारे में तो पता करते हैं।

फिर उसके साथ उसके price earning ratio को भी देखते हैं । और उस स्टॉक के अन्य हिस्सों को देखते हैं। तो हम को यह पता चलता है कि कहीं यह हमको मांगा तो नही पड़ रहा है।और अगर हम इसे ले तो क्या प्रॉफिट होगा कि नहीं।

तो हम price erning ratio से पता कर सकते हैं कि कोई भी स्टॉक जिसे हम ले रहे हैं वह हमको सही दाम पर मिला है इन्हें मतलब की कहीं हमको महतो नहीं मिल रहा है।

तो दोस्तों चलिए अगम आपको इस पोस्ट में यह बताने की पूरी कोशिश करेंगे और आपको समझाने की पूरी कोशिश करेंगे जी यह P/E retio kya hota hai. यह तो हमने आपको पर bata दी है.

P/E retio kya hota hai

उसके साथ ही इसको हूं कैसे इस्तेमाल करते हैं| और इसे हम किसी स्टॉक खरीदने में किस तरह से और कितने अच्छे से उपयोग कर सकते हैं। और इसके साथ-साथ की किसी स्टॉक को कैसे पहचाने कि हमको भविष्य में प्रॉफिट देगी और सस्ता और अच्छा कैसे खोजें इस ऐसी जानकारी के बारे में हम आपको बताएंगे।

P/E RATIO

P/E RATIO इसको हम आपको बहुत आसान भाषा में समझाते हैं।

इसका मतलब ऊपर आपको बता दिया है कि इसका फुल फॉर्म क्या होता है। और शेयर मार्केट मे इस ratio हमको बहुत ज्यादा सुनने को मिलेगा और इसका उपयोग भी बहुत ही ज्यादा होता है।

इसको उपयोग हम जब स्टॉक को खरीदने लगेंगे तो हम इसे ही पता कर सकते हैं कि जो हम स्टॉप ले रहे हैं यह कितना हमको सस्ता और इतना महंगा मिला है इसे पता कर सकते हैं।

इसके अलावा आपको EPS के बारे में जानना चाहिए। जोकि इस पर हम आर्टिकल लिखे हैं वहां पर जाकर पर सकता है।

P/E RATIO को कैसे इस्तेमाल करते है?

चलिए अब आपको बताते हैं कि P/E retio kaise nikala jata hai। जब हम किसी कंपनी के स्टॉक खरीदने  जाएंगे

तो हमको सबसे पहले उस कंपनी के करंट प्राइस को पता करना है। फिर हम को उसके करंट प्राइस मे eps का भाग कर देते है। जो आता है। वह prise erning ratio होता है।

तो चलिए हम आपको एक उदाहरण देकर समझाते हैं कि कैस P/E RATIO निकाला जाता है। जैसे कि कोई एक कंपनी को लेते हैं। तो चलिए हम ने tata group lete हैं।

तो इस कंपनी का eps माना वर्तमान कि समय 75 है और इसी कम्पनी का करंट प्राइस 2500 रूपये हैं। तो चलिए हम इसका prise erning ratio निकालते हैं। जैसे कि हमने आपको पर बताया है कि करंट प्राइस में eps का भाग देते हैं।

P/e ratio= current price ÷ EPS

price erning ratio= 2250÷75

तो p/e = 30

तो अब आप समझ ही गए होंगे किP/E retio kaise nikala jata hai.

P/E RATIO कितने प्रकार के होते हैं।

तो चलिए दोस्तों अब हम जानते हैं कि P/E RATIO कितने प्रकार होते हैं। तो दोस्तों यह तीन प्रकार के होते हैं। और इन तीनों को कैसे इस्तमाल किया जाता है इसके बारे में भी आपको बताएंगे। तो चली अब हम जान लेते हैं यह कौन-कौन से प्रकार होते हैं।

  • Trailing price earning ratio
  • Forward price earning ratio
  • Justified price earning ratio

Trailing P/E RATIO

तो चलिए हम ईसके बारे में जानते है। की यह क्या होता है और कहां पर use होता है।  Trailing शब्द का अर्थ होता है। पिछे  इस ratio को short term मे tpe भी कहते है।

क्योंकि यह इसे भी कंपनी के 12 महीने के पिछले रिकार्ड को लिया जाता है। फिर उसी 12 महिने के डाटा को कैलकुलेट करके tpe निकला जाता है। और यह ratio बहुत ही ज्यादा लोग विश्वास भी करते हैं।

क्यों कि यह वास्तविक प्रोफिट पर निकला जाता है।  वास्तुक प्रॉफिट के कारण निवेश करने वाले लोग  बहुत ज्यादा विश्वास करते हैं और बहुत ही ज्यादा use भी करते हैं। और यह रिस्क को भी कम करता है।

Farword p/e ratio

तो चलिए अब हम farword price earning ration के बारे जा लेते हैं। यह ttp का उल्टा होता है।Farword का मतलब आगे होता है। मतलब की यह रिसीव किसी भी कंपनी के  अगले 12  महीने की डाटा को कैलकुलेट करके  fardword price earning ratio निकला जाता है।

इसके इस्तेमाल निवेश करने वाले लोग बहुत ही कम करते हैं। क्योंकि यह किसी को बल्कि स्टॉप को 12 महीने आगे की चलता है इसमें कल्पना करनी होती है कि 12 महीने में डाटा  इतना होगा। जिससे सही कैलकुलेशन नहीं हो पाता।

Jastified p/e ratio

तो चली दोस्तों अब हम जानते है इस रेश्यो के बारे में जैसे कि बहुत से ऐसे भी कंपनी होती हैं जो अपने शेयर के साथ divident देती है। जिसके कारण earning पर share के साथ जो कम्पनी का divident हैं।

उसे कैलकुलेट करते हैं। इसलिए इसे jastified ratio कहते हैं। इसका मतलब जो भी कंपनी erning पर ratio के साथ-साथ devident भी पे करती हैं। वह jastifies price earning ratio अंतर्गत आते हैं।

हमने आपको तीनो ratio के बारे में बता दिया है । और हम आपको यह भी बता दे कि इन सभी ratio मैं से सबसे ज्यादा यूज़ लिए जाने वाला और भरोसा करने वाला ratio पहला है । जिसका नाम Trailing price earning RATIO है।

price earning ration का इस्तेमाल कैसे किया जाता है?

तो दोस्तों आप सब ने इतना ही ratio के बारे में जान लिया है तो चलिए अब हम जानते हैं कि इसका इस्तेमाल कैसे किया जाता है और कहां की है जाता है।

दोस्तो पहले आपको एक अच्छा सा स्टॉक को चुनना है। फिर आपको pe ration का यूज करना चाहिए तो चली अब हम जानते हैं। इसे  l कौन-कौन से स्टॉक मे इस्तेमाल करना चाहिए।

तो कभी भी हमको अलग अलग सेकत्रो वाली कंपनियां कि  रिसीव का तुलना नहीं करनी चाहिए।

क्योंकि इससे कोई मतलब नहीं निकलता। इसलिए हमको जिस भी सेक्टर को आप चुन रहे हैं उसी सेक्टर के दो कंपनी के बीच की ratio  कि तुलना करनी चाहिए। 

तो चले अब हम आपको उदाहरण देकर समझाते हैं।

जैसे कि हम दो अलग अलग सेक्टर के स्टाफ को चुनते हैं। तो हमें इसे कोई फायदा नहीं होता। इसलिए हमको एक ही सेक्टर के दो कंपनी के स्टॉप को चुनना चाहिए।

जैसे टाटा मोटर्स और महिंद्रा मोटर्स यह दोनों के कई सेक्टर कि दो कंपनी है। इसलिए किया दोनों कंपनियां कार गाड़ी बनाते हैं। तो हमें इन दोनों के pe ration निकाल कर तुलना करने चाहिए। तब आपको पता चलेगा कि कौन सा स्टॉप अच्छा है।

आप यह भी बता दो कि सिर्फ pe ration से किसी भी अच्छे स्टॉक का पता नहीं चलता। इसलिए हमको और सभी का इस्तेमाल करना चाहिए।

conclusion

तो दोस्तों आशा करता हूं आपको P/E retio kya hota hai समझ में आई होगी। और आपको इसके साथ ही पसंद आया होगा। हमने आपकोP/E retio kya hota hai के बारे में विस्तार से जानकारी दे दी है। जिसे आप अगर ध्यान से पढ़ें होंगे तो आपको अच्छे से समझ भी आए होगा और यह आपको स्टोक चुनते समय में बहुत मदद करेगी। तो दोस्तो अगर आपको या पोस्ट अच्छा लगा हो तो नीचे तो कमेन्ट जरूर बताएं और अपने दोस्तों के साथ सही करें। धन्यवाद!

maybe like

share market best books

1 thought on “P/E retio kya hota hai”

Leave a Comment